Prime Minister Narendra Modi said on budget 2019

हर वर्ग के समुचित विकास को ध्यान में रख कर बनाया गया है मोदी जी के सरकार का बजट 2019

पीएम श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश की इकोनॉमी लगातार सुदृढ़ हो रही है। इसी कड़ी में पिछले दिनों जब केन्‍द्रीय वित्त‍ मंत्री पियूष गोयल ने संसद के पटल पर वर्ष 2019 का अंतरिम बजट पेश किया तो उसमे देश के हर वर्ग के लिए कुछ ना कुछ था। इस दौरान अपने अभिभाषण में वित्त मंत्री ने कहा की मोदी जी के नेतृत्व में देश ने आर्थिक स्थिरता को प्राप्त कर लिया।

इस दौरान श्री गोयल जी ने वर्ष 2013-14 से वर्तमान की तुलना करते हुए बताया की तब भारतीय अर्थव्यवस्था विश्व में 11वें नंबर पर थी जो अब विश्व में छठे नंबर पर पहुँच गई है। वित्त मंत्री ने कहा कि आज भारत दुनिया की सबसे तीव्र रफ़्तार से बढ़ने वाली एक बड़ी अर्थव्यवस्था है और आज हमारे देश का औसत जीडीपी विकास दर 7.3 प्रतिशत सालाना है। बता दें की 1991 में लाये गए आर्थिक सुधारों के बाद से आई किसी भी सरकार की यह सबसे उच्च विकास दर है।

श्री पियूष गोयल जी ने इस दौरान कहा कि वर्ष 2022 में जब देश अपनी स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगाँठ का उत्सव मनाएगा तब देश के हर परिवार के पास खुद का घर और शौचालय होगा जिसमे विद्युत व जल आपूर्ति की सुविधा होगी। इस नए भारत में किसानों की आय दोगुनी होगी और देश आतंकवाद, उग्रवाद, भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से बिलकुल मुक्त हो जाएगा।

बहरहाल अगर पूरे बजट की ख़ास बातों पर नजर डालें तो पाएंगे की इस बजट के माध्यम से हर वर्ग को फायदा पहुंचाने की कोशिश की गई है। मध्यवर्ग को राहत पहुंचाने के लिए अब 5 लाख रुपए तक की सालाना आय होने पर किसी प्रकार का टैक्स नहीं देना होगा। यानी की यदि कोई व्यक्ति सालाना 5 लाख रुपये तक कमा रहा है तो उसे कोई टैक्स नहीं देना होगा और सारी रकम उस व्यक्ति के पास ही रहेगी।

इसके अलावा किसानों के लिए भी कई घोषणाएँ की गयी है जिसमे छोटे किसानों को प्रतिवर्ष उनके खाते में 6000 रुपये दिए जायेंगे। यह पूरी रकम तीन किस्तों में साल भर में किसानों को दी जायेगी और इसकी पहली क़िस्त जल्द ही उनके खाते में दे दी जाएगी। इस योजना से करीब 12 करोड़ किसान परिवारों को लाभ मिलेगा। जिन किसानों के पास 2 हेक्टेयर या इससे कम जमीन हैं उन्हें ही इस योजना का लाभ मिलेगा।

दैनिक श्रम करने वाले श्रमिकों के लिए भी सरकार ने घोषणाएँ की है जिसमे अब उन्हें 7000 रुपये तक का बोनस दिया जायेगा। साथ ही 15 हजार तक कमाने वाले व्यक्तियों को पेंशन भी मिलेगी। इसके लिए केवल 100 प्रतिमाह की राशि जमा करनी होगी इस योजना के जरिये लगभग 10 करोड़ की संख्या में मज़दूरों को फायदा होगा।

हम देख सकते हैं की यह बजट मुख्य रूप से हर वर्ग के लोगों को ध्यान में रख कर बनाया गया है जिससे देश की विकास की रफ्तार बढ़ेगी। इस बजट के पेश होने के बाद पीएम श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के नाम दिए अपने संबोधन में कहा की ये बजट तो महज ट्रेलर भर है और जब पुनः वे सरकार में आएँगे तो इसका वृहत रूप अर्थात पूरी फिल्म देखने मिल जाएगा।

Rohit Gangwal
By Rohit Gangwal , February 6, 2019
Copyright 2018 | All Rights Reserved.