गोंडा रैली में पीएम मोदी ने कहा – लोगों में एक तीसरा नेत्र होता है जिससे वो सही-गलत भली-भांति भांप लेते हैं

यूपी के गोंडा में पीएम नरेंद्र मोदी ने ओडिशा और महाराष्ट्र निकाय चुनावों की जीत का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि दिल्ली के एयरकंडीशन्ड कमरों में बैठकर राजनीति पर चर्चा करने वालों को अंदाजा नहीं होगा कि देश में कैसी आंधी चल रही है. हमारे देश के सामान्य व्यक्ति की सूझबूझ, लोकतंत्र के प्रति उसकी श्रद्धा, चाहे वे पढ़े-लिखे हो या न हों. स्कूल का दरवाजा भी देखा हो या न देखा हो, घर में टीवी, रेडियो या अखबार आया हो या न हो. भगवान शिव की तरह देश के लोगों में एक तीसरा नेत्र होता है. वे तीसरे नेत्र से भली-भांति भांप लेते हैं कि सही क्या है, गलत क्या है.

नोटबंदी के दौरान कुछ ने तो यह भी कह दिया- कुछ समय तो दे दो मोदी जी
पीएम ने आगे कहा- हमारे देश में झूठे आरोप लगाने वाले और अनाप-शनाप बोलने वालों की कमी नहीं है. झूठ फैलाना उनका भरपूर प्रयास भी होता है. पिछले कुछ दिनों में जबसे मैंने भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ कड़े कदम उठाना शुरू किया है और जबसे 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा की है तबसे कुछ ताकतें झूठ फैलाने में लगी हैं. इन लोगों की परेशानी है कि वे बड़े-बड़े लोग होने के बावजूद बच नहीं पाए. कुछ लोगों ने तो यह भी कह दिया कि मोदी जी कुछ समय तो दे दो. यही नहीं जिन्हें इससे नुकसान हुआ, आज वे गले लगते दिख रहे हैं. पीएम मोदी यहां सपा-कांग्रेस गठबंधन पर निशाना साध रहे थे.

15 साल में एक ही अपवाद, नोटबंदी पर साथ आए सपा-बसपा 
पिछले 15 साल में सपा वाले कुछ बोलेंगे तो बसपा वाले उल्टा बोलते रहे हैं. वहीं बसपा कुछ बोले तो सपा, लेकिन नोटबंदी पर दोनों साथ नजर आए. 15 साल में एक ही अपवाद है जब नोटबंदी हुई तो दोनों एक ही सुर में बोले- ‘मोदी बेकार है’.

ओडिशा में बीजेपी को झंडा रखने की जगह नहीं मिलती थी
पीएम ने आगे कहा कि गरीबी,बेरोजगारी की चर्चा होती है तो लोग ओडिशा का नाम लेते हैं. अभी वहां चुनाव हुआ. वह प्रदेश जहां भारतीय जनता पार्टी को झंडा रखने की जगह नहीं मिलती थी. निकाय चुनाव में ओडिशा के लोगों ने ऐसा जनसमर्थन दिया कि बहुत से लोग चौंक गए कि आने वाले समय में अन्य पार्टियों के पास कुछ बचेगा भी या नहीं.

पिछले तीन महीनों में जहां भी चुनाव हुए बीजेपी ने अच्छा प्रदर्शन किया
महाराष्ट्र के नतीजों में तो कांग्रेस बिल्कुल साफ हो गई. वह कहीं नजर नहीं आ रही है. चाहे ओडिशा हो, महाराष्ट्र, चंडीगढ़ हो, गुजरात के पंचायत चुनाव हों या कर्नाटक के चुनाव हो.. पिछले तीन महीने में जहां-जहां चुनाव हुए. भारतीय जनता पार्टी को भरपूर आशीर्वाद दिया. हम अटल जी के सपनों को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं.

नई सरकार की पहली मीटिंग में ही किसानों का कर्ज माफ
अखिलेश जी को किसानों से कैसा गुस्सा है कि उत्तर प्रदेश में 14 प्रतिशत से ज्यादा बीमा नहीं दिया गया, यह अन्याय है. यूपी में नई सरकार बनते ही पहली मीटिंग में किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा.

admin
By admin , February 25, 2017
Copyright 2018 | All Rights Reserved.