Pm modi ne indore ki saifee masjid me kaha bohra samaj ki deshbhakti ek misaal hai

इंदौर सैफी मस्जिद से पीएम मोदी ने कहा, बोहरा समाज की देशभक्ति और ईमानदारी एक मिसाल है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इंदौर में हज़रत इमाम हुसैन की शहादत के स्मरणोत्सव ‘अशरा मुबारका’ कार्यक्रम में हिस्सा लिया। ये कार्यक्रम दाऊदी बोहरा मुस्लिम समुदाय के द्वारा आयोजित किया गया। प्रधानमंत्री के साथ बोहरा समुदाय के 53वें धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन भी मौजूद रहे।

बोहरा समाज के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब किसी प्रवचन कार्यक्रम में कोई प्रधानमंत्री शामिल हो रहा है। शिवराज सरकार ने सैफुद्दीन को राजकीय अतिथि का दर्जा दिया है।


सैफी मस्जिद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप सभी के बीच में आना हमेशा मुझे प्रेरणा देता है, एक नया अनुभव देता है। अशरा मुबारक, के इस पवित्र अवसर पर आपने मुझे बुलाया इसलिए आपका आभारी हूं। उन्होंने कहा कि बोहरा समाज ने हमेशा से शांति का पैगाम रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इमाम हुसैन अमन और इंसाफ के लिए शहीद हो गए।


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि शांति का संदेश देने की यही शक्ति हमें दुनिया से अलग बनाती है, बोहरा समाज दुनिया को हमारे देश की ताकत बता रहा है। पीएम ने कहा कि हमें अपने अतीत पर गर्व है, वर्तमान पर विश्वास है। बोहरा समाज ने शांति के लिए जो योगदान दिया है, उसकी बात हमेशा मैं दुनिया के सामने करता हूं।


उन्होंने कहा कि बोहरा समाज की भूमिका राष्ट्रभक्ति के प्रति सबसे अहम रही है। धर्मगुरु अपने प्रवचन के माध्यम से अपनी मिट्टी से मोहब्बत की बातें कहते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि बोहरा समाज के साथ मेरा रिश्ता काफी पुराना है, मैं इस परिवार का सदस्य हूं। मेरे दरवाजे आपके लिए हमेशा खुले हैं। उन्होंने कहा कि जन्मदिन से पहले ही मुझे इस पवित्र मंच से आशीर्वाद मिला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था तब बोहरा समाज हमेशा मेरे साथ था। कई बार मैं धर्मगुरु जी से मिलने सूरत के एयरपोर्ट पर मिलने चला गया। PM मोदी बोले कि तब मैंने उनसे गुजरात में पानी की चिंता की, और उन्होंने इसके लिए तभी काम करना शुरू कर दिया।


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज बोहरा समाज कई तरह से स्वास्थ्य के लिए समाज में मदद कर रहा है। सरकार भी लोगों के स्वास्थ्य के लिए चिंता कर रही है और लगातार हम काम कर रहे हैं। हमने दवाईयों के दाम कम कर दिए हैं, आयुष्मान भारत के जरिए 50 करोड़ लोगों को मेडिकल की सुविधा मुफ्त में मिलेगी।


प्रधानमंत्री बोले कि अभी तक बोहरा समाज के लोगों ने करीब 11000 लोगों को अपना घर दिया है, हमारी सरकार भी 2022 तक सभी को घर देना चाहती है। और हमने 1 करोड़ लोगों को घर की चाबी सौंप भी दी है। उन्होंने कहा कि जल्द ही हमारा देश खुले में शौच करने से मुक्त हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि समाज के बीच से ही ऐसे लोग निकलते हैं जो धांधली को ही कारोबार मानते हैं, आप बोहरा समाज के लोग ईमानदारी से कारोबार कर देश के लिए संदेश दे रहे हैं। हमारी सरकार की नीतियों के कारण आज देश की विकास की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है, हमारी नज़र अब जीडीपी के नंबरों को दहाई तक पहुंचाने पर है।

बोहरा समुदाय के 53वें धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि आज इमाम हुसैन के शहादत की याद में प्रधानमंत्री मोदी का हमारे गम में शरीक होना बड़ी बात है। उन्होंने कहा कि अल्लाह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस वतन को आगे ले जाने की शक्ति दे।

उन्होंने कहा कि वतन से मोहब्बत, वतन से वफादारी, कानून में भागीदारी ही भारत के मुसलमानों का इमान है। बोहरा धर्मगुरु ने कहा कि मुसलमानों को गुजरात, महाराष्ट्र समेत देश के हर हिस्सों में मोहब्बत मिलती है।

इस मौके पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज का दिन भारत के इतिहास में ऐतिहासिक होने वाला है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का सपना है कि 2022 तक हर किसी के सिर पर छत हो, बोहरा समाज और हमारे प्रधानमंत्री दोनों ही गरीबों के दुख दूर करने में लगे हुए हैं।

शिवराज ने कहा कि अपने मुल्क से मोहब्बत करने वाला, दूसरों की मदद करने वाला और अनुशासित अगर कोई समाज है तो वो बोहरा समाज है।

बता दें कि पीएम मोदी बोहरा समुदाय के इस कार्यक्रम स्थल सैफी मस्जिद पर 30 मिनट रुकेंगे। मध्य प्रदेश में दो महीने के बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में पीएम का बोहरा मुस्लिम समुदाय के धर्मगुरु से मिलने के कार्यक्रम के राजनीतिक मायने निकाले जाने लगे हैं।

Prabhat Sharma
By Prabhat Sharma , September 14, 2018
Copyright 2018 | All Rights Reserved.